सरकारी विभाग

  • जिला मुजफरनगर
    श्रम विभाग मुजफरनगर
    श्रमिको एंव सेवायोजकों के मध्य सौहार्दपूर्ण सम्बन्धों को बढावा देंने के उद्देश्य से जनपद मुजफरनगर मे सहयक श्रमायुक्त एवं सहायक निदेशक कारखाना के कार्यालय कार्यरत है जनपद मे उक्त कार्यालयों का विवरण निम्नानुसार है-
     

     

    (बाल श्रम (प्रतिषेध एवं विनियमन) अधिनियम 1986)

    उक्त अधिनियम की धारा–3 के अनुसार बच्चे को (ऐसा व्यक्ति जिसने अपनी आयु का 14 वा वर्ष पूर्ण न किया हो। ) नीचे दिये हुए कार्य एवं प्रक्रियाओ में नियोजन को निषेा किया गया है :–
    (खतरनाक व्यवसाय जिनमें बाल श्रम वर्जित है )


    1 रेलवे द्वार यात्रियों माल और डाक को इधर–उधर ले जाना।
    2 रेवले परिसरों मे निर्माण कार्य करना अंगारों या राख से कोयला बीनना अथवा राख के गड्ढों को साफ करना।
    3 रेलवे स्टेशन पर बने हुए भोजनालयों में काम करना इसमें किसी कर्मचारी द्वारा किया गया ऐसा कार्य भी शामिल है जिसमें एक प्लेटफार्म से दूसरे प्लेटफार्म पर आना जाना अथवा चलती ट्रेन से चढ़ना उतरना पड़ता है।
    4 रेलवे स्टेशन के निर्माण से सम्बन्धित काम या कोई ऐसा काम जो रेल लाइनों के निकट या उसके बीच में किया जाना हेा।
    5 किसी पत्तन की सीमाओ के भीतर कोई पत्तन निकाय।
    6 अस्थाई लाइसेन्स प्राप्त कर पटाखो और आतिशबाजी की सामान बेचने से सम्बन्धित कार्य ।
    7 बूचडखाना अथवा वधशाला ।
    8 ओटोमोबाइल वर्कशॉप व गैराज ।
    9 ढलाई कारखाना।
    10 विषैले पदार्थो तथा ज्वलनशील विस्फोटको की उठाई– धराई ।
    11 हथकरघा एवं पावरलूम उद्योग।
    12 खान (जलगत एंव भूमिगत) एवं कोयला खदान ।
    13 प्लास्टिक इकाईया एंव फाइबर ग्लास वर्कशॉप ।
    14 बीड़ी बनाना।
    15 कालीन बनाना।
    16 सीमेन्ट बनाने से लेकर बोरिया में भरने तक ।
    17 कपडा छपाई रंगाई और बुनाई तक ।
    18 दियासलाई (माचिस) विस्फोटक पदार्थ तथ पटाखों का निर्माण ।
    19 अभ्रक काटना और उसके टूकडे विखण्डन करना ।
    20 चमड़ा बनाना ।
      आगे>>