अल्पसंख्यक कल्याण विभाग
मुजफ्फरनगर(उ0प्र0)  


कार्यालयाध्यक्श का पदनाम        जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी

विभाग का पता           जिला अल्पसंख्यक कल्याण विभाग 309 विकास भवन मुजफ्फरनगर।

दूरभाश नम्बर

फैक्स

ईमेल

विभागाध्यक्श का पदनाम             निदेशक, अल्पसंख्यक कल्याण उ0प्र0 लखनऊ।

दूरभाश/फैक्स   05222287213

ईमेल

विभाग की वेबसाईट Minoritywelfare.up.nic.in

जनसूचना अधिकारी का नाम   श्री जगमोहन सिंह जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी मुजफ्फरनगर।

अपीलीय अधिकारी का नाम       निदेशक अल्पसंख्यक कल्याण उ0प्र0 लखनऊ।

क्रियाकलापकेन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के माध्यम से चलाई जा रही योजनाओ का संचालन। 

अल्पसंख्यक वर्ग मुस्लिम (षेख, सैय्यद, मुगल पठान, राजपूत त्यागी) सिख, इसाई, बौद्व, पारसी एवं जैन के व्यक्तियो को मान्यवर श्री काषीराम जी शहरी स्वरोजगार योजना शादी अनुदान के आवेदन पत्र कार्यालय स्तर से निषुल्क उपलब्ध कराये जाते हैं।


1. पूर्वदशम् छात्रवृत्ति योजना इस योजना के अन्तर्गत अल्पसंख्यक वर्ग मुस्लिम (केवल सामान्य वर्ग शेख, सैय्यद, मुगल पठान, राजपूत एवं त्यागी) सिख, इसाई बौद्व, पारसी एवं जैन के सभी पात्र छात्र/छात्राओं को छात्रवृत्ति प्रदान की जाती हैं। जिनके अभिभावकों की वार्षिक आय रू0 एक लाख से अधिक नही हैं। पूर्वदशम छात्रवृत्ति में कक्शा 1 से 5 तक रू0 25 कक्शा 6 से 8 तक के छात्र/छात्राओं को रू0 40 एवं कक्शा 9 से 10 तक के छात्र/छात्राओं को रू0 60 प्रतिमाह की दर से प्रवेश तिथि से माह जून तक की छात्रवृत्ति प्रदान की जाती हैं। छात्रवृत्ति प्राप्त करने हेतु निर्धारित प्रारूप पर आवेदन पत्र भरकर आवेदन पत्र छात्र/छात्रा द्वारा विद्यालय के प्रधानाचार्य को दिया जाता हैं, तथा प्रधानाचार्य द्वारा छात्रवृत्ति के आवेदन पत्र शिक्शा विभाग के माध्यम से जिला अल्पसंख्यक कल्याण विभाग को भेंजे जाते हैं। अल्पसंख्यक कल्याण विभाग द्वारा प्राप्त आवेदन पत्रो को कम्प्यूटर में फीड कराकर छात्रवृत्ति की धनराशि (कक्शा 1 से 8 तक) ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम पंचायतों के खातों में तथा नगरीय क्षेत्रो में विद्यालय के खातो में भेजी जाती हैं, तथा कक्शा 9 से 10 तक छात्र/छात्राओं की छात्रवृत्ति की धनराशि सम्बन्धित छात्र/छात्राओं के खातों में भेजी जाती है।


2.दशमोत्तर् छात्रवृत्ति योजना : इस योजना के अन्तर्गत अल्पसंख्यक वर्ग मुस्लिम (केवल सामान्य वर्ग शेख, सैय्यद, मुगल पठान, राजपूत एवं त्यागी) सिख, इसाई बौद्व, पारसी एवं जैन के सभी पात्र छात्र/छात्राओं को छात्रवृत्ति प्रदान की जाती हैंं। जिनके अभिभावकों की वार्षिक आय रू0 एक लाख से अधिक नही हैं। दशमोत्तर् छात्रवृत्ति में कक्शा 11 से 12 तक के छात्र/छात्राओं को रू0 140 प्रतिमाह , स्नातक कक्षाओं में रू0 185 प्रतिमाह एवं स्नातकोत्तर, इंजीनियरिंग, मेडिकल आदि कक्षाओं में रू. 330 प्रतिमाह की दर से छात्रवृत्ति एवं अनिवार्य शुल्क की धनराशि प्रदान की जाती हैं। छात्रवृत्ति प्रदान करने हेतु निर्धारित प्रारूप पर आवेदन पत्र भरकर आवेदन पत्र छात्र/छात्रा द्वारा विद्यालय के प्रधानाचार्य को दिया जाता हैं, तथा प्रधानाचार्य द्वारा छात्रवृत्ति के आवेदन पत्र संकलित कर शिक्शा विभाग के माध्यम से जिला अल्पसंख्यक कल्याण विभाग को भेंजे जाते हैं। अल्पसंख्यक कल्याण विभाग द्वारा आवेदन पत्रो को कम्प्यूटर में फीड कराकर छात्रवृत्ति की धनराशि छात्र/छात्राओं के बैंक खातो में हस्तांतरित की जाती हैं। आवेदन पत्र के साथ आय व जाति प्रमाण पत्र की छायाप्रति संलग्न करना अनिवार्य हैं।


3.शादी अनुदान योजना : इस योजना के अन्तर्गत अल्पसंख्यक वर्ग मुस्लिम (केवल सामान्य वर्ग शेख, सैय्यद, मुगल पठान, राजपूत एवं त्यागी) सिख, इसाई बौद्व, पारसी एवं जैन जाति के निर्धन एवं असहाय व्यक्तियों को उनकी पुत्री की शादी हेतु रू0 10,000/ की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती हैं। उक्त सहायता प्राप्त करने हेतु आवेदक की आय ग्रामीण क्षेत्रो में रू0 19,884/ एवं नगरीय क्षेत्रो में रू0 25,546/ वार्षिक से अधिक नही होनी चाहिए। उक्त सहायता को प्राप्त करने के लिए आवेदक को अपना आवेदन पत्र शादी की तिथि निर्धारित करने के पश्चात् आय प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, शादी का कार्ड, कन्या की आयु का प्रमाण पत्र एवं रू0 10 के स्टाम्प पेपर पर शपथ पत्र सहित आवेदन पत्र जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी कार्यालय में जमा करना होगा। प्राप्त आवेदन पत्रो की पात्रता की जांच कराये जाने के पश्चात् प्राप्त पात्र आवेदको को प्रथम आयें प्रथम पायें के आधार पर जिलाधिकारी महोदय की स्वीकृति के पश्चात् अनुदान की धनराशि उपलब्ध करायी जाती हैं।


4.मान्यवर काशीराम जी शहरी स्वरोजगार योजना : इस योजना के अन्तर्गत अल्पसंख्यक वर्ग मुस्लिम सिख, इसाई बौद्व, पारसी एवं जैन जाति के निर्धन एवं असहाय व्यक्तियों जिनकी वार्षिक आय ग्रामीण क्षेत्रों में रू0 19,884/ एवं नगरीय क्षेत्रों में रू0 25,200/ हो, को उक्त योजनान्तर्गत रू0 50,000/ तक का ऋण दिया जाता हैं। जिसमें परियोजना लागत का 80 प्रतिशत बैंक ऋण 15 प्रतिशत अनुदान एवं 5 प्रतिशत लाभार्थी अंश होता हैं। आवेदक को अपना आवेदन पत्र आय प्रमाण पत्र जाति प्रमाण पत्र निवास प्रमाण पत्र एवं रू0 10 के स्टाम्प पेपर पर शपथ पत्र सहित जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी कार्यालय में जमा करना होगा अल्पसंख्यक कल्याण विभाग द्वारा बैंको के लक्ष्यों के अनुरूप अभ्यर्थियों के आवेदन पत्र 80 प्रतिशत ऋण स्वीकृति हेतु बैंको को पे्रशित किये जायेगें। बैंको से स्वीकृतियां प्राप्त होने के पश्चात् 15 प्रतिशत अनुदान की धनराशि सम्बन्धित बैंको को अल्पसंख्यक कल्याण विभाग द्वारा नियमानुसार उपलब्ध करायी जाती हैं।


प्रमाण पत्र
प्रमाणित किया जाता हैं कि अधोहस्ताक्शरित द्वारा उपलब्ध करायी गयी जानकारी विभागीय रिर्कोड के अनुसार त्रुटिरहित हैं। सी0डी0 में दी गयी सूचना को जनपद की वेबसाईट पर प्रकाशित करा दिया जायें।


जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी
मुजफ्फरनगर


दावात्याग:(Disclaimer) एन0आई0सी0 मुजफ्फरनगर इस वेबपृष्ठ पर प्रकाशित गलती के लिये जिम्मेदार नहीं है । इस वेबपृष्ठ पर दी गयी सामग्री एवं तथ्‍यों का उपयोग विधिक उददेश्‍य हेतु नहीं किया जा सकता।अधिक जानकारी के लिये सम्बन्धित विभाग से सम्पर्क करें ।

                  HOME